कंप्यूटर का इतिहास (Computer Ka Ithihas ) हिंदी में

बहुत प्राचीन काल (computers in the past) से ही गणनाओं की आवश्यकता महसूस की जाने लगी  थी जब से ही background of computer technology का विकास हुआ है  उन दिनों मनुष्य अपनी अंगुली की सहायता से गणनाएं करता था लेकिन  अंगुलियों पर बहुत अधिक घटनाएं नहीं की जा सकती थी कंप्यूटर का इतिहास (Computer Ka Ithihas ) हिंदी में पोस्ट को समजाया गया है 

कंप्यूटर का इतिहास (Computer Ka Ithihas ) हिंदी में

इसलिए उस समय गणना करने के लिए पत्थर ,   छड़ो , हड्डियों , संक आदि का प्रयोग करना प्रारंभ कर दिया , उदाहरण के लिए एक व्यक्ति के पास 6 बकरी और 4 गाय होती थी  तो वह छ पत्थर और चार हड्डियों का प्रयोग कर सकता था यहां पत्थर बकरी को तथा छड़ी गाय को दर्शाती थी 

लेकिन यह प्रक्रिया बहुत मुश्किल और असमंजस होने वाली थी  इसके बाद के युग में जैसे-जैसे परिवार तथा समाज में वृद्धि होनी प्रारंभ हुई मनुष्य को बड़ी घटनाएं करने के लिए तिर्व साधनों की आवश्यकता महसूस हुई जब मनुष्य को बड़ी करना है इसलिए मनुष्य ने उपकरण विकसित करने प्रारंभ कर दिए   

आज मैं आपको इस पोस्ट में कंप्यूटर के इतिहास (basic history of computer)के बारे में कुछ रोचक के बारे में जानकारी शेयर करूंगा जिससे आपके बहुत से डाउट जैसे कंप्यूटर का इतिहास क्या है

जिससे आप computer for beginners के बारे में बहुत कुछ सीख सकते है  कंप्यूटर का इतिहास किसने स्टार्ट किया कंप्यूटर कब बनाया गया ऐसे बहुत  से सवाल है जिनके जवाब आपको इस पोस्ट के जरिए मिल जाएंगे

 

 

कंप्यूटर के इतिहास में गन्ना के लिए प्रयोग किए  प्राचीन उपकरण के बारे में जानकारी इस प्रकार है

 

 अबेकस (abacus)

बड़ी संख्याओं की गणना के लिए प्रयोग किया जाने वाला प्रमुख कारण था abacus calculator के आधार पर संख्या की गणना की जाती थी  abacus definition के बारे में जानते है  इसकी खोज 16 शताब्दी में चीन में की गई थी यह साधारण घटनाएं से जोड़ कर कर सकता है  हेअवेन्स और निचला भाग (earth) कहलाता है

प्रत्येक भाग में ऊर्ध्वाधर छड़ी होती है   जिनमें गोल मोती होते हैं इन मोतियों को ऊपर व नीचे करके संख्याओं को जोड़ना तथा घटाया जाता है और अब abacus business computer llc का भी इस्तेमाल कर सकते है  abacus history and use करने के लिए आप गूगल सर्च कर सकते है

 

पास्कलाइन Pascline

सन 1662 में ब्लेज पास्कल नामक एक फ्रांसीसी गणितीय गणना करने के लिए एक मशीन का आविष्कार किया जिसका नाम पास्केलाइन था  यह एक आयताकार बॉक्स था जिसके अंदर 8 घूमते चक्कर बने हुए थे इस मशीन का प्रयोग केवल जोड़ने और घटाने के लिए किया जा सकता था इसका आविष्कार के नाम पर ही इसका नाम पास्केलाइन रखा गया

 

 नेपियर्स बोंस  

सन 1616 में सर जॉन नेपियर्स ने  आयताकार chadho से गणना करने के लिए एक उपकरण बनाया या नेपियर बोंस कहलाता था इसका प्रयोग संख्याओं को जोड़ने घटाने गुणा तथा भाग करने के लिए  किया जाता था

 

लेबेनीज कैलकुलेटर

सन 1617 में  गोट फ्राइड लेबेनीज नामक  जर्मन गणितज्ञ तथा दार्शनिक ने एक केलकुलेटर का आविष्कार किया इस केलकुलेटर का प्रयोग जोड़ने घटाने गुणा तो संभोग करने के लिए किया जा सकता था

 

डिफरेंस इंजन

1821 में चार्ल्स बैबेज नामक एक अंग्रेजी गणित  ने एक नए एक मशीन का आविष्कार किया जिसे डिफरेंस इंजन कहा जाता है इस इंजन का प्रयोग गणितज्ञ   सहायता नियम बनाने के लिए किया जाता था इसकी सहायता से निर्णय लिए जाते थे

 

एनालिटिकल इंजन   (difference engine )

सन 1833 में चार्ल्स बैबेज (about charles babbage)ने एक मशीन की खोज कि जिसे एनालिटिकल इंजन (analytical engine computer)कहते हैं  इस मशीन में आधुनिक कंप्यूटर की सभी विशेषताएं थी

यह जोड़ घटाव गुणा और भाग अपने आप ही कर सकती थी  वैसे आपको पता ही होगा चार्ल्स बैबेज को आधुनिक कंप्यूटर का जनक भी कहा जाता है क्योंकि आधुनिक कंप्यूटर उनके एनालिटिकल इंजन के सिद्धांतों पर आधारित है  development of computer कार्य करते थे

 

टेबुलेटिंग मशीन (tabulating machine)

Sarfarosh मूवी हरमन होलेरिथ नामक एक अमेरिकी संख्याकीवरद ने एक मशीन का आविष्कार किया जिसका नाम टेबुलेटिंग  मशीन था यह मशीन डाटा पढ़ सकती थी तथा उसे प्रोसेस करके आवश्यकता आउटपुट उपलब्ध कराती थी इसमें डाटा या  सोचना को रिकॉर्ड और संगठित करने के लिए अंत काल का प्रयोग किया जाता था electric sorting machine के लिए इस्तेमाल किया जाता है

 

कंप्यूटर की पीढ़ियां  (generation computer)

 

कंप्यूटर को उनके कार्य आकार तथा तकनीकी के आधार पर 5 श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है  आपको पता ही होगा कि कंप्यूटर को पांच पीढ़ियों के अंतर्गत डिवाइडेड किया गया है और इन पांच पीढ़ियों के चलते हुए  जो वर्तमान में हम जिस कंप्यूटर का यूज़ करते हैं जिसका नाम चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर है यह पांच पीढ़ी कंप्यूटर की पीढ़ियां   कहलाती है आज इस पोस्ट में हम all generation of computer के बारे dettails से जानते है  

 

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर( about 1st generation computer)

 

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटरों की निम्नलिखित विशेषताएं थी

 

  1. इनमे वैक्यूम ट्यूब का प्रयोग किया जाता था जो बहुत अधिक ऊष्मा उत्पन्न करती थी
  2.  यह कनवर्टर बहुत भारी और आकार में बड़े होते थे और वह उसी जगह घेर लेते थे

३. यह बहुत महंगे होते थे

४. इन कंप्यूटर में केवल  मशीन लैंग्वेज का प्रयोग किया जाता था

  1. कंप्यूटरों की चाल 5000 + तथा 350 गुना प्रति सेकंड होती थी

 

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर निम्नलिखित है  जिनके बारे में हम चर्चा करेंगे वैसे तो बहुत सी कंपूटर बनाए गए थे प्रथम पीढ़ी में बट कुछ कंप्यूटर की लिस्ट में यहां पर ले रहा हूं

 

  मार्क 1

होवर्ड आइकेन औ  र ग्रेस होफर निम्नलिखित पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार किया जिसे     मार्क 1 के नाम से जाना जाता था यह कंप्यूटर लगभग 15 मीटर लंबा था तब मशीन के विभिन्न भागों को जोड़ने वाले तार लगभग 800 किमी लंबे थे

 

जे. प्रेस्पेर एकर्ट (J.Presper Eckert )

 जे. प्रेस्पेर एकर्ट (J.Presper Eckert ) और  जॉन मोकली ( john mauchly ) ने पहला पूर्ण इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर विकसित किया , जिसे एनी एक ( electronic newmeric interiget and calculater ) के नाम से जाना जाता है के नाम से जाना जाता है   इसमें लगभग 17500 वैक्यूम ट्यूबे लगी हुयी थी जो 680 वेर्ग फिट का स्थान घेरती थी तथा इनका भार 21000 किलो से ज्यादा था प्रारंभ मैं यह मशीन प्रोग्राम स्टोर नहीं कर सकती थी

 

 एडवैक

 एडवैक electronic discrete variable automatic computer  भी जे. प्रेस्पेर एकर्ट (J.Presper Eckert ) और जॉन मोकली ( john mauchly )  द्वारा विकसित किया गया था इसमें दो अतिरिक्त गुण थे , जो एनिएक में नहीं थे  BAINERI WORDS का प्रयोग डिजिटल रूप में लिख निर्देशों के अतिरिक स्टोरेज है

 

यूनिवैक

यूनिवैक 1 यूनिवर्सल ऑटोमेटिक कंप्यूटर 1 व्यवसायिक रूप से उपलब्ध इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर था जो न्यूमैरिक तथा टेक्स्ट दोनों प्रकार कि डाटा पर कार्य कर सकता था  इसे भी जे. प्रेस्पेर एकर्ट (J.Presper Eckert ) और जॉन मोकली ( john mauchly ) द्वारा विकसित किया गया था

 

द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (about 2nd generation computer)

 द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटरों की निम्नलिखित विशेषताएं थी  जो इस प्रकार है

 

  1. इन कंप्यूटर में वैक्यूम ट्यूब के  स्थान पर ट्रांजैक्शन का प्रयोग किया  जाता है
  2. ट्रांजिस्टर ओ के प्रयोग में से कंप्यूटर प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर की तुलना में छोटे , तिर्व  ज्यादा विश्वसनीय थे

 

वैक्यूम ट्यूब का स्थान ट्रांजिस्टर ने ले लिया जिसका उपयोग रेडियो ,टेलिविजन , कम्प्यूटर आदि बनाने मे किया जाने लगा । ट्रांज़िस्टर अधिक विश्वसनीय थे , आकार में कॉम्पेक्ट और कम बिजली की खपत करते थे

वैक्यूम ट्यूबों  की तुलना में तेजी से काम करते थे। इस जनरेशन में असेंबली लैंग्वेज और हाई लेवल प्रोग्रम्मंग लैंग्वेज जैसे के फोर्टों, कोबोल का प्रयोग होता था।

 

IBM 1620

IBM 7094

CDC 1604

CDC 3600

UNIVAC 1108

 

 

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर (third generation computer )\1964-1971  निम्नलिखित विशेषताएं थी

तीसरी पीड़ी के कंप्यूटर में ट्रांज़िस्टर के स्थान पर IC का प्रयोग किया गया। जैक किल्बी द्वारा आईसी आविष्कार किया गया था । एक एकल आईसी में कई ट्रांजिस्टर, रजिस्टर और कपैसिटर होते है। मैं आपको   तीसरी पीढ़ी क्या कंप्यूटर के बारे में जानकारी शेयर कर रहा हूं

 

IBM-360 series

Honeywell-6000 series

PDP(Personal Data Processor)

IBM-370/168

TDC-316

 

चौथी पीढ़ी

चौथी पीढ़ी की अवधि: 1971-1980(VLSI) वीएलएसआई माइक्रोप्रोसेसर आधारित है।

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर में बहुत बड़े पैमाने पर एकीकृत (वीएलएसआई) सर्किट का इस्तेमाल किया गया । चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर, अधिक शक्तिशाली कॉम्पैक्ट, विश्वसनीय, और सस्ते  हो गए । नतीजतन, चौथी पीढ़ी ने पर्सनल कंप्यूटर (पीसी) क्रांति को जन्म दिया। सभी हाई लेवल लैंग्वेज जैसे C, C++, Dbase इसी पीढ़ी में प्रयोग की जाती थी।

इस पीढ़ी के कुछ कंप्यूटर थे:

DEC 10

STAR 1000

PDP 11

CRAY-1(Super Computer)

CRAY-X-MP(Super Computer)

 

पांचवीं पीढ़ी

पांचवीं पीढ़ी की अवधि: 1980 के बाद – ULSI माइक्रोप्रोसेसर आधारित है। पांचवी पीढ़ी में कंप्यूटरों में कृत्रीम बुद्धि का निवेश किया गया है, जिसको आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस भी कहा जाता है। इस जनरेशन में ऐसे कंप्यूटर बन रहे है जो एक इंसान के तरह सोचते है। सारी हाई लेवल लैंग्वेजेज जैसे C and C++, Java, .Net इसी जनरेशन में प्रयोग की जाती है.

इस पीढ़ी के कुछ कंप्यूटर थे:

Desktop

Laptop

NoteBook

UltraBook

ChromeBook

 

   computer ka itihas के बारे में ये पोस्ट पसंद आई तो सोशल शेयर नेटवर्किंग साइट्स पर शेयर करे 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.